Monday, July 21, 2008

नीलकंठ में जलाभिषेक की तैयारी


श्रावण मास में कांवड़ मेले में लाखों शिवभक्त श्रद्धालु कांवडियों ने नीलकंठ पहुँच कर मंदिर में जलाभिषेक कर अपनी मनोकामना पूरी करने हेतु पूजा अर्चना करने पहुँच रहे हैं।

इस वर्ष मेला प्रशासन को गत वर्षों की अपेक्षा अधिक शिव भक्त कांवडियों के आने की संभावना लग रही है। उमड़ी भीड़ को देख कर पुलिस ने बहुत चुस्त, कड़ी सुरक्षा की है जिसके चलते स्थानीय लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

पुलिस की इस व्यवस्था के चलते लक्ष्मण झूला स्वर्गाश्रम क्षेत्र के दुकानदारों व आम नागरिकों को चहारदीवारी के भीतर तीन सप्ताह तक लगभग नजरबंद कैदियों की तरह रहना पड़ेगा। मेला पुलिस प्रशासन ने मेले के दौरान स्थानीय लोगों को भी उनके वाहनों से इधर उधर जाने की स्वीकृति नहीं दी है।

गौरतलब है कि बहुत से लोगों की दुकानें लक्ष्मण झूला व स्वर्गाश्रम में है जिन्हें प्रतिदिन रिषिकेश से अपनी दुकानों पर दुपहिया वाहनों से ही आना जाना पड़ता है। अब इस पाबंदी के चलते इन दुकानदारों को बैराज के रास्ते आठ-दस किमी का चक्कर काटकर लक्ष्मण झूला व स्वर्गाश्रम जाना पड़ रहा है।

पुलिस अधीक्षक (देहात) करण सिंह नगन्याल ओर सीओ डॉ. किरण लाल शाह के निर्देशन में रायवाला व रिषिकेश पुलिस ने ओवरलोडिंग के खिलाफ चलाया जा रहा है। रायवाला में थानाध्यक्ष महेश जोशी के साथ पुलिस टीम ने 35 व रिषिकेश पुलिस ने पाँच वाहनों का चालान किया। सड़क के किनारे ठेला अथवा वाहनों को खडा कर यातायात में बाधा डालने वालों के विरुद्ध भी पुलिस सख्ती से निपटने की तैयारी कर रही है।


Home | Hindu Jagruti | Hindu Web | Ved puran | Go to top