Friday, November 7, 2008

गोपाष्टमी पर हजारों ने लगाई गंगा में डुबकी

गढ़ गंगा खाद मेले में आज पहले प्रमुख स्नान गोपाष्टमी पर्व पर हजारों श्रद्धालुओं ने पतीत पावनी मां गंगा में डूबकी लगाकर पुण्य की प्राप्ति की। गढ़ गंगा खादर मेले के मुख्य स्नान का दिन जैसे-जैसे पास आता नजर आ रहा है वैसे-वैसे श्रद्धालुओं ने जय गंगे भैया की जयघोष के साथ भैंसा बुग्गी, टै्रक्टर ट्राली आदि साधनों से गढ़ मेले में पहुंचकर अपना बसेरा बसाना शुरू कर दिया है। गढ़ गंगा मेले में आज मेले का पहला मुख्य स्नान गोपाष्टमी पर्व पर करीब हजारों श्रद्धालुओं ने पतीत पावती मां गंगा में डूबकी लगाकर पुण्य की प्राप्ति की है। गगा मेले में चार मुख्य स्नान होते हैं। पहला मुख्य स्नान गोपाष्टमी पर्व, दूसरा मुख्य स्नान देव उठान एकादशी, तीसरा मुख्य स्नान चौदस का पर्व तथा चौथा व प्रमुख स्नान कार्तिक मास की पूणिमा का होता है। मेले में आज का पहला मुख्य स्नान सकुशल सम्पन्न हो गया, लेकिन मेले में जिला पंचायत की लचीरी व कमजोर व्यवस्था के कारण श्रद्धालुओं को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मेले में पीने के पानी की किल्लत सबसे बड़ी जटिल समस्या बनी हुई है। पानी का बहाव तेज होने के कारण अभी पीएसी की गोताखोर टीम भी मेले में नहीं पहुंच पायी है।
Home | Hindu Jagruti | Hindu Web | Ved puran | Go to top