Wednesday, July 2, 2008

गंगा रक्षा को विदेशी हिंदू भी आगे आएंगे



भारतमातामंदिर के संस्थापक स्वामी सत्यमित्रानंदगिरि महाराज के आह्वान पर अब गंगा की अविरल धारा के लिए प्रवासी हिंदू भी आवाज बुलंद करेंगे। इसके लिए इंग्लैंड में बसे एक लाख से अधिक हिंदू हस्ताक्षरित ज्ञापन भारत के राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री को सौपेंगे।



स्वामी की ओर से न्यायमित्रशर्मा ने उक्त जानकारी दी है। स्वामी का कहना है कि भारतीय संस्कृति में गंगा को माता का स्थान दिया गया है। गंगा के प्रति विदेश में जाकर बसने वाले हिंदुओं में अगाध आस्था है। गंगा पर आए संकट से विदेश के हिंदुओं की भावनाएं भी आहत हैं।



उनका कहना है कि गंगा की अविरल धारा के लिए विदेश में स्थित हिंदू संगठित हो रहे हैं। स्वामी ने इंग्लैंड समेत अनेक देशों में समन्वय परिवार की स्थापना की है। इनमें पारिवारिक सौहार्द के साथ सामाजिक मूल्यों को बनाए रखने का अभियान चलाया था। स्वामी के अनुयायी इन परिवारों ने गंगा की रक्षा को लेकर भारत में हो रहे संघर्ष में सहयोग का संकल्प लेकर हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया है।

Home | Hindu Jagruti | Hindu Web | Ved puran | Go to top